October 20, 2021
देश

पूर्वी भारत में क्यों बंद हो रहे हैं,"McDonald रेस्तरां"

पूर्वी भारत में क्यों बंद हो रहे हैं,"McDonald रेस्तरां"

मैकडोनाल्ड के संयुक्त उद्यम सहयोगी रहे विक्रम बक्शी ने कहा कि पूर्वी भारत में लगभग सभी रेस्तरां बंद हो गये हैं और उत्तरी क्षेत्र में कई अन्य बंद होने की कगार पर हैं. इसका कारण उनके लाजिस्टिक भागीदारी द्वारा आपूर्ति को बंद करना है.
मैकडोनाल्ड और बक्शी के बीच विवाद चल रहा है. राधाकृष्ण फूडलैंड द्वारा आपूर्ति बंद किये जाने से 80 रेस्तरां प्रभावित हुए हैं. यह सब मैकडोनाल्ड और बक्शी के बीच विवाद का यह नतीजा है.
आउटलेट्स बंद होने की  वजह?
सीपीआरएल मैक्डॉनल्ड और बख्शी की 50-50 फीसदी की बराबर हिस्सेदारी वाला ज्वाइंट वेंचर है. यही कंपनी उत्तर और पूर्वी उत्तर भारत के इलाकों में आउटलेट को ऑपरेट करता है. 21 अगस्त को ही इस अमरकी बर्गर एंड फ्राइज चेन मैक्डॉनल्ड ने CPRL के साथ अपने को रद्द कर दिया था. मैक्डॉनल्ड ने सीपीआरएल को हिदायत दिया था कि 15 दिनों के अंदर वो मैक्डॉनल्ड के ब्रैंडिंग और इंटेलेक्चुअल प्रॉपटी का इस्तेमाल बंद कर दें.
उन्होंने कहा, ‘‘लाजिस्टिक सहयोगी के कदम से पूर्वी भारत में लगभग सभी रेस्तरां बंद हो गये हैं और अन्य (उत्तर भारत) पर भी आपूर्ति की कमी के कारण दबाव है.’’ बक्शी ने कहा कि फिलहाल सीमित भंडार के कारण कुल 80 रेस्तरां दबाव में हैं. राधाकृष्णा फूडलैंड प्राइवेट लि. ने सीपीआरएल को लिखे पत्र में कहा कि वह मात्रा कम होने तथा भविष्य की अनिश्चितता समेत कुछ अतिरिक्त राशि का भुगतान नहीं होने से आपूर्ति को रोक रही है. कनाट प्लाजा रेस्टुरेंन्टस लिमिटेड (सीपीआरएल) बक्शी और मैकडोनाल्ड्य इंडिया की संयुक्त उद्यम है.
बक्शी ने दुकानों के मालिक और उसे विकसित करने वालों को लिखे पत्र में कहा है, ‘‘हमारा लंबे समय से लाजिस्टिक भागीदार इकाई राधाकृष्ण फूडलैंड ने मैकडोनाल्ड्स और उसकी पूर्ण अनुषंगी मैकडोनाल्ड्स इंडिया प्राइवेट लि. के साथ कथित रूप से साठगांठ कर आपूर्ति रोकने का फैसला किया है…..’’ उन्होंने यह भी कहा कि हम वैकल्पिक व्यवस्था कर रहे हैं और जल्दी ही ग्राहकों को सेवा उपलब्ध कराने के लिये लौटेंगे.
विक्रम बख्शी को एमडी पद से हटाया था?
2013 में मैकडोनाल्ड ने विक्रम बख्शी को सीपीआरएल के एमडी पद से हटा दिया था, तभी से कम्पनी और बक्शी  और इनका विवाद चल रहा था.  और  बख्शी ने कंपनी लॉ बोर्ड में याचिका दायर की थी. इसके बाद बख्शी मामले को दिल्ली हाईकोर्ट में लेकर के चले गए थे. जन मेक्डोनाल्ड  प्रवक्ता से इस बाबत पूछा गया तो उन्होंने कहा ‘हमें सूचित किया गया था कि उनके विक्रेताओं ने आपूर्ति  बंद कर दी है … यह सीपीआरएल और उनके विक्रेताओं के बीच है, एमआईपीएल की नहीं.

About Author

Ashok Pilania

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *