विचार स्तम्भ

More

कॉलेजियम के मीटिंग मिनिट्स को सार्वजनिक करना एक उचित और साहसिक निर्णय है

  • January 24, 2023

न्यायाधीशों के पास अपने पक्ष में जनमत बनाने के लिए मीडिया के माध्यम से जनता तक जाने की स्वतंत्रता नहीं है, जो विधायिका, कार्यपालिका तथा एक...

More

क्या प्रधानमंत्री पर लिखे लेख को साझा और खुदकुशी के मामले पर नाराजगी जाहिर करना, हाईकोर्ट के जज लिए, कोई अनुपयुक्तता है?

  • January 24, 2023

सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने एडवोकेट आर जॉन सत्यन को मद्रास हाईकोर्ट के न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत करने के अपने प्रस्ताव को दुबारा, केंद्र सरकार को...

More

महारानी के लिए ध्वज झुक सकता है, पर शंकराचार्य के लिए नही

  • September 12, 2022

जीवन का पहला शतक पूरा करने से कुछ महीने पहले ही द्वारिका पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती अपनी इहलीला समाप्त कर अनंत में विलीन हो...

More

नज़रिया – डूबना ही शहरों की त्रासदी है अब

  • September 11, 2022

भारत की सिलकॉन सिटी कहा जाने वाला बेंगलौर बर्षात झेलने के लायक नहीं रहा। एक ही वर्षा में पूरा शहर ऐसा डूबा की लोग त्राहि-त्राहि कर...

More

एयरपोर्ट की सुरक्षा CISF से लेकर निजी हाथों में देना सुरक्षा के लिये घातक

  • September 8, 2022

यह भी एक विडंबना है कि, सरकार को, 1980 से लंबित पड़ी, धर्मवीर कमीशन की रिपोर्ट जो पुलिस सुधार के बारे में है, को सुप्रीम कोर्ट...

More

महंगाई और बेरोज़गारी के ख़िलाफ़ प्रदर्शन से सरकार क्यों परेशान है ?

  • August 7, 2022

महंगाई पर हुए प्रदर्शन को कपड़ो से पहचानने और उसे राम मंदिर शिलान्यास से जोड़ कर देखना, अपनी अक्षमता का प्रदर्शन और असल मुद्दो से मुंह...

More

चिंतन में डूबी कांग्रेस पर एक नज़र

  • May 15, 2022

देश की सबसे पुरानी और बड़ी राजनीतिक पार्टी कांग्रेस इन दिनों उदयपुर में चिंतन में डूबी है। देश में यत्र-तत्र डूबने के बाद पार्टी का चिंतन...