October 28, 2021
व्यक्तित्व

माईकल जॉर्डन ने वो कपडा 2000$ में बेचा था.

माईकल जॉर्डन ने वो कपडा 2000$ में बेचा था.

बास्केटबॉल का जिक्र हो और माइकल जॉर्डन का न हो,ऐसा हो ही नही सकता.माइकल जॉर्डन को बास्केटबॉल का सबसे बड़ा और सबसे मशहूर खिलाड़ी माना जाता है.1990 के दशक में NBA को लोकप्रिय बनाने में इनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही है.
माइकल ने नेशनल बास्केटबाल एसोसिएशन(NBA) के जरिये बास्केटबॉल को दुनिया भर में पॉपुलर किया और इसके जरिये बहुत नाम और पैसा कमाया.माइकल एक सफल बिज़नेसमेन भी हैं.उनकी “चार्लोटे बोब्कट्स” नाम की कंपनी है.लेकिन बास्केटबाल के इस सबसे बड़े एवं मशहूर खिलाडी का यहाँ तक पहुँचने का सफ़र इतना आसान नहीं था.माइकल ने एक बेहद ही गरीब परिवार में जन्म लिया था.
वो कहते थे,
“मैं बहुत बार असफल हुआ हूँ और इसलिए मैं आज सफल हूँ.”
माइकल के जीवन के बारे में जानने से पहले हम उनके बचपन की एक घटना बताना चाहेंगे जो करोड़ो लोगों को प्रेरित कर चुकी है की इंसान अगर चाहे तो दुनिया में कुछ भी मुश्किल नहीं हैं.

जब माइकल 13 साल के थे तब उनके पिता ने उन्हें अपने पास बुलाया और एक पुराना और उपयोग किया हुआ कपड़ा देकर पूछा कि, “अच्छा बेटा यह बताओ इस कपड़े की कीमत कितनी होगी?”माइकल थोड़ा सोचने के बाद बोले यह 1 डॉलर का होगा. तो पिता ने कहा तुम्हें कुछ भी कर के बाजार में जाकर इस कपड़े को 2 डॉलर में बेचना है.

माइकल ने सोचा की ऐसा क्या किया जाये जिस से इस पुराने कपड़े के 2 डॉलर मिल सके.माइकल ने उस कपड़े को अच्छे से धो दिया और फिर घर पर इस्त्री ना होने के कारण उसे ढेर सारे कपड़ों के नीचे सीधा करने के लिए रख दिया.
अगले दिन उन्होंने देखा कपड़ा पहले से बेहतर दिखाई दे रहा है उसके बाद उन्होंने पास के रेलवे स्टेशन पर जाकर 5 घंटो की कड़ी मेहनत के बाद उसे बेच दिया और बहुत खुश होते हुए घर आये और अपने पापा को पैसे दे दिये.
15 दिनों के बाद पिता ने फिर से वैसे ही एक कपड़ा दिया और कहा कि जाओ इसे 20 डॉलर में बेच कर आओ.इस बार माइकल को थोड़ा सा आश्चर्य हुआ की भला इसके 20 डॉलर कौन देगा.
लेकिन पिता ने कहा एक बार कोशिश तो करो. उन्होंने फिर से अपना दिमाग लगा कर सोचा और अपने दोस्त की मदद से शहर जा कर उस कपड़े पर मिकी माउस का स्टीकर लगवा लिया और ऐसे स्कूल के सामने जा कर खड़े हो गये जहाँ ज्यादातर बच्चे अमीर घर से ही आते थे.

एक छोटे से बच्चे ने अपने पापा से कह कर उसे खरीद लिया.उस छोटे बच्चे के पिता ने उस कपड़े को 5 डॉलर एक्स्ट्रा टिप देकर ख़रीदा.और इस तरह उसने 1 डॉलर के उस कपडे 20 डॉलर में बेचा और 5 डालर टिप मिली इस तरह कपड़े को पूरे 25 डॉलर में बेच कर माइकल बहुत ज्यादा खुश थे और खुशी- खुशी आकर पिता जी को बताया.

कुछ दिनों के बाद माइकल को उनके पिता जी ने एक और कपडा दिया और बोला की जाओ इसे 200 डॉलर में बेच के आओ इस बार माइकल को लगा की अब तो यह बहुत ही ज्यादा है लेकिन फिर भी उन्होंने हार नहीं मानी क्योंकि अभी तक माइकल पिता जी के द्वारा दिए गए इस कार्य में पूर्ण रूप से सफल हो रहे थे आख़िरकार माइकल ने यह काम को भी करने की ठान ही ली लेकिन उन्होंने इस बार इस काम के बारे में 2-3 दिन तक सोचा की आखिर वह कैसे इस पुराने से कपडे को जिसका मूल्य मात्र 1 डालर है उसे 200 डालर में कैसे बेचे.
Image result for michael jordan
जैसा की हम जानते है कोशिश करने वालों की कभी भी हार नहीं होती ठीक उसी तरह माइकल ने हार नहीं मानी और उस पुराने कपडे की कीमत बढ़ाने का उपाय खोज ही लिया माइकल उस कपडे को लेकर शहर गए.
उन्होंने देखा की उस दिन शहर में कोई बहुत ही बड़ी पापुलर एक्ट्रेस आई है.माइकल पुलिस के द्वारा बनाये गये सुरक्षा घेरे को तोड़ कर कपडे पर उस एक्ट्रेस का ऑटोग्राफ लेने में कामयाब हो गये.

बच्चे की मासूमियत देख एक्ट्रेस भी मन नहीं कर पाई अगले ही दिन माइकल उस ऑटोग्राफ वाले कपडे को लेकर बाजार निकल गये. वह उन्हें बहुत भीड़ जमा हो गई जो उसे खरीदना चाहती है और उस कपडे की बोली लगाईं जा रही थी आख़िरकार माइकल ने वो कपडा 2000 डॉलर में बेचा.

इस घटना के बाद से माइकल के पिता को इस बात का अहसास हो गया की उनका बेटा अब जीवन में कुछ भी कर सकता हैं. माइकल एक ऐसे व्यक्ति है जो आज की युवा पीढ़ी के लिए एक मिसाल हैं.
Related image
बास्केटबॉल के इस महान प्लेयर का जन्म 17 फरवरी 1963 को न्यूयार्क के ब्रुकलिन में हुआ था. माइकल अपने माता पिता की 5 संतानों में से चौथे नंबर पर थे. माइकल के २ बड़े भाई, 1 बहन बड़ी और 1 छोटी बहन थी.माइकल के खेलो की शुरूआती शिक्षा विम्लिंगटन के एम्सली ए लैनी नामक स्कूल में हुई जिनमें बेसबॉल, फुटबॉल और बास्केटबॉल थे.यहीं से माइकल के खेल जीवन की शुरुआत हुई.
जिसके बाद भी माइकल ने अपना खेल जारी रखा और कॉलेज में भी बास्केटबॉल टीम के लिए कोशिश की लेकिन उस समय वे सफल नहीं हो पाए. इसके बाद माइकल ने जूनियर विश्वविद्यालय के लिए खेल कर नाम रोशन किया, और बहुत ही कड़ी मेहनत की.
माइकल ने नेशनल बास्केटबॉल एसोसिएशन के जरिये दुनिया भर में बहुत नाम कमाया.माइकल के खेल करियर में एक वक़्त ऐसा भी आया जब माइकल ने बास्केटबॉल से हट कर बेसबॉल में रूचि दिखाई लेकिन फिर उन्होंने बास्केटबॉल को ही अपने व्यावसायिक खेल के तौर पर आगे बढाया.
1997-1998 में माइकल ने अपने खेल से सन्यास ले लिया.इसके बाद भी वे वाशिंगटन विजार्ड टीम के ओनर रहे. लेकिन ज्यादा समय तक माइकल अपने आप को बास्केटबॉल से दूर नहीं रख पाए 2001 में उन्होंने फिर से वाशिंगटन विजार्ड के लिए खेलना शुरू किया और लगातार 2 वर्ष तक फिर इस टीम का हिस्सा रहे.अंत में 2003 में माइकल ने खेल को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया.

ये हैं माइकल जोर्डन के रिकार्ड्स

  1. 1984 एवं 1994 में माइकल ने ओलंपिक खेलो में हिस्सा लिया और दोनों ही बार उन्होंने अपनी अमेरिकी बास्केटबॉल टीम को गोल्ड मेडल दिलाया.
  2. माइकल ओलंपिक में ऐसे पहले खिलाडी थे जिन्होंने अपनी टीम के लिए लगातार 8 मैचों में हिस्सा लिया.
  3. माइकल एक ऐसे खिलाडी है जो NBA में वाशिंगटन विजार्ड और शिकागो बुल्स के लिए 15 सीजन तक लगातार खेले हैं.
  4. NBA के अनुसार प्रत्येक सीजन में सबसे ज्यादा स्कोर बनाने का रिकॉर्ड भी माइकल जॉर्डन का ही हैं.
    उनका औसत स्कोर 30.12 का है प्रति सीजन है जो की अपने आप में एक रिकॉर्ड हैं.
  5. सन1984-1985 में माइकल को NBA “रुकी ऑफ़ थे ईयर “ का ख़िताब दिया गया.
  6. मोस्ट वेल्युएबल प्लेयर का ख़िताब माइकल ने अपने खेल जीवन में 5 बार जीता.
  7. सन 1987- 1988 में एनबीए ने माइकल को “ डिफेन्सिव प्लेयर ऑफ़ द ईयर” का ख़िताब दिया.
  8. माइकल जॉर्डन वो हस्ती है जिन्हें साल 2010 में फ़ोर्ब्स मैगजीन के द्वारा 20 तेजस्वी व्यक्तित्व होने का गौरव प्राप्त हैं.
  9. माइकल बास्केटबॉल के पहले ऐसे खिलाडी हैं जिनके नाम 40 वर्ष की उम्र में खेलते हुए 40 पॉइंट जीतने का रिकॉर्ड दर्ज हैं.
  10. NBA ने माइकल को “ग्रेटेस्ट ऑल टाइम बेस्ट बास्केटबॉल प्लेयर” कहा है.

माइकल जोर्डन के जीवन के कुछ रोचक तथ्य

  • बिलीनियर बनने वाले विश्वभर के एथलीट में से माइकल का नाम सबसे पहले आता है.
  • खेल जगत से रिटायर्मेंट लेने के बाद भी 100 मिलीयन डालर सालाना कमाई है माइकल की.
  • जॉर्डन “एम जे” नाम से तो प्रसिद्द है ही साथ ही वे “हिज एर्नेस” और “एयर जॉर्डन” के नाम से भी जाने जाते हैं.
  • 1993 का वर्ष माइकल के लिए शायद बहुत बुरा वक़्त ले कर आया जुलाई में माइकल के पिता की हत्या कर दी गई.ये उनके जीवन के सबसे मुश्किल समय में से एक था.
  • मशहूर ब्रांड नाइके ने माइकल जॉर्डन के नाम पर जूतों का एक स्पेशल एडिशन निकाला था जिसका नाम था “एयर जॉर्डन”
  • माइकल के नाम पर कई सारे वीडियो गेम्स के नाम भी रखे गये जिनमे वन ऑन वन और जॉर्डन वर्सेस वर्ड प्रमुख हैं.
  • खेल जगत में नाम कमाने के साथ ही माइकल ने कुछ हॉलीवुड फिल्मों में भी काम किया है. 1996 में आई हॉलीवुड फिल्म “स्पेस जेम” में माइकल जॉर्डन ने खुद का किरदार निभाया था. इसके अलावा माइकल जॉर्डन ने फिल्म “ही गॉट कम” में भी काम किया है.
  • माइकल एक अच्छे खिलाडी तो है ही साथ ही वे एक बहुत ही अच्छे इंसान भी हैं वाशिंगटन विजार्ड की टीम में खेल कर उन्हें जो पहली सेलेरी मिली थी उन्होंने उसे 9/11 के आतंकी हमले में मरे गये लोगों के परिवार वालों को डोनेट कर दी थी.
  • माइकल जॉर्डन हमेशा 23 नम्बर की जर्सी पहन कर ही खेलते थे जिसके कारण प्रशंसको के बीच में उनकी एक अलग ही पहचान थी.लेकिन 1990 में माइकल की ये पापुलर जर्सी चोरी हो गई जिससे माइकल बहुत नाराज थे.
  • साल 2006 में जुआनिता वनोय और माइकल जॉर्डन का तलाक हुआ. कहा गया है कि जॉर्डन कि पत्नी, जुआनिता को 168 मिलियन रूपए, जुर्माने के तोर पर दिया गया था.यह उस समय का सबसे महंगा तलाक़ था.

माइकल जॉर्डन ना सिर्फ एक उम्दा खिलाडी थे बल्कि उन्होंने बास्केटबॉल को अपने प्रदर्शन एवं खेल के द्वारा विश्वभर में विख्यात कर दिया.माइकल ने अपने खेल के करियर में बहुत सारे खिताब जीते है लेकिन वे ऐसे खिलाडी है जिन्होंने प्रशसंको का भरपूर प्यार जीता हैं.माइकल जॉर्डन उन चुनिन्दा लोगों में से है जो जन्म तो किसी एक गाँव या शहर में लेते है लेकिन अपनी मेहनत और परिश्रम के जरिये पूरे विश्वभर में अपनी छाप छोड़ते है.

About Author

Team TH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *