October 20, 2021
क्रिकेट

यदि IPL के उदघाटन मैच में ब्रावो पहले ही आउट हो जाते तो ?

यदि IPL के उदघाटन मैच में ब्रावो पहले ही आउट हो जाते तो ?

आईपीएल को लेकर टेलीविजन पर इन दिनों एक विज्ञापन आ रहा है,जिसमें कहा जाता है कि “शेर की शेर से लड़ाई हो तो शेर ही जीतता है.”यह बात आईपीएल के 11वें सीजन के पहले मैच में साबित भी हो गई.
ड्‍वेन ब्रावो के तूफानी अर्द्धशतक (68) की मदद से चेन्नई सुपर किंग्स ने शनिवार को आईपीएल 2018 के प्रारंभिक मैच में मुंबई इंडियंस पर शानदार जीत दर्ज की.मुंबई ने 4 विकेट पर 165 रन बनाए.जवाब में चेन्नई ने 1 गेंद शेष रहते 1 विकेट से रोमांचक जीत दर्ज की.
एक समय लग रहा था कि मुंबई आसानी से यह मैच जीत जाएगी,लेकिन ड्वेन ब्रावो ने मैच का पांसा ही पलट दिया.इस जीत के साथ जहाँ चेन्नई ने 2 साल के निलंबन के बाद अपनी शानदार वापसी की है,वहीं मुम्बई को 6वीं बार आईपीएल के पहले मैच में हार का सामना करना पड़ा है.
ऐसी रही मुंबई की बल्लेबाजी
चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने टॉस जीतकर मुंबई को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया.आईपीएल में अपना डेब्यू कर रहे लुइस बिना खाता खोले ही दीपक चाहर की गेंद पर एलबीडब्ल्यू हो गए.मुंबई ने इस पर‍ रिव्यू लिया, लेकिन इसमें अंपायर के फैसले को सही पाया गया.बात दें कि आईपीएल में पहली बार डीआरएस का इस्तेमाल किया जा रहा है.
इसके बाद कप्तान रोहित शर्मा मात्र 15 रन बनाकर वॉटसन की गेंद को हवा में खेलकर रायुडू को कैच थमाकर पैवेलियन लौट गए.
सूर्यकुमार यादव ने इसके बाद ईशान किशन के साथ मिलकर पारी को संभाला.दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 78 रन जोड़े. सूर्यकुमार 43 रन बनाकर वॉटसन की बाउंसर पर हरभजन सिंह को कैच दे बैठे.इसके बाद ईशान किशन भी 40 रन बनाने के बाद ताहिर की गेंद पर मार्क वुड को कैच थमा बैठे.मुंबई ने 4 विकेट पर 165 रन बनाए.हार्दिक पांड्‍या 22 और कृणाल पांड्‍या 41 रन बनाकर नाबाद रहे.इन्होंने पांचवें विकेट के लिए 42 रनों की अविजित भागीदारी की.
ऐसी रही चेन्नई की बल्लेबाजी
165 का लक्ष्य चेन्नई की बल्लेबाजी स्ट्रेंग्थ को देखकर आसान लग रहा था.लेकिन मुंबई के गेंदबाजों ने इसे मुश्किल साबित कर दिया.लक्ष्य का पीछा कर रहे चेन्नई की शुरुआत अच्छी नहीं रही और शेन वॉटसन 16 रन बनाकर हार्दिक पांड्‍या के शिकार बने.हार्दिक ने इसके बाद चेन्नई को दूसरा झटका दिया जब उन्होंने अनुभवी सुरेश रैना (4) को अपने भाई कृणाल पांड्‍या के हाथों झिलवाया.
इसके बाद डेब्यू मैच खेल रहे मयंक मार्कंडे ने अंबाती रायुडू (22) को एलबीडब्ल्यू कर मेजबान टीम को महत्वपूर्ण सफलता दिलाई. इसके कप्तान महेंद्रसिंह धोनी भी  5 रन बनाकर मार्कंडे के शिकार बने. अंपायर ने उन्हें एलबीडब्ल्यू नहीं दिया था, लेकिन मुंबई ने रिव्यू लिया जिसमें धोनी आउट हो गए. जडेजा 12 रन बनाकर मुस्ताफिजुर की गेंद पर यादव को कैच थमा बैठे.चेन्नई की आधी टीम 75 रनों के अंदर पैवेलियन लौट गई.
केदार जाधव 14 रन बनाकर चोट के कारण रिटायर्ड हर्ट हो गए. दीपक चाहर बगैर खाता खोले मार्कंडे के शिकार बने.उन्हें विकेटकीपर ईशान किशन ने स्टंप किया.यह उनका पारी में तीसरा विकेट है.इसके बाद हरभजन सिंह 8 रन बनाकर मैक्लेनाघन के शिकार बने.
चेन्नई की हार तय मानी ही जा रही थी लेकिन ब्रावो की तूफानी पारी के दम पर चेन्नई ने मुंबई के से जीत छीन ली.वे 30 गेंदों में 3 चौकों और 7 छक्कों की मदद से 68 रन बनाकर आउट हुए.इस वक्त टीम को जीत के लिए 7 रन चाहिए थे, जिसके चलते चोटिल जाधव क्रीज पर उतरे और टीम को 1 गेंद शेष रहते जीत दिलाकर वापस लौटे. केदार जाधव 24 और इमरान ताहिर 2 रन बनाकर नाबाद रहे.मार्कंडे ने 23 रनों पर 3 विकेट लिए जबकि हार्दिक ने 24 रनों पर 3 विकेट हासिल किए.

About Author

Durgesh Dehriya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *