मनीष मर्डर केस में क्या है नया अपडेट?

मनीष मर्डर केस में क्या है नया अपडेट?

यूपी के गोरखपुर (Gorakhpur) में करीब 4 दिन पहले हुए मनीष गुप्ता हत्याकांड (Manish Gupta Murder Case) के बाद यूपी पुलिस (UP Police) पर लगातार उंगली उठाई जा रही है। योगी के जीरो टॉलरेंस नीति (Zero Tolerance Niti) पर भी सवाल खड़े किए जा रहे हैं। कानपुर (Kanpur) के कारोबारी का पुलिस द्वारा गोरखपुर (Gorakhpur) […]

Read More
 चालान काट कर यूपी पुलिस ने बड़ी गलती कर दी

चालान काट कर यूपी पुलिस ने बड़ी गलती कर दी

ट्रेफिक नियमों का पालन न करने को लेकर हर दिन कई लोगों का चालान कटता है। आपका भी कभी न कभी, किसी न किसी बात पर चालान कटा ही होगा। पर उत्तर प्रदेश में पुलिस ने हेलमेट न पहनने को लेकर एक चालान काटा है, जिसके बाद से ट्रेफिक पुलिस का यह चालान चर्चा का […]

Read More
 19 दिसंबर के बाद 23 हत्याओ के ज़िम्मेदार की फोटो कब लगेगी योगी जी – अमीक जामेई

19 दिसंबर के बाद 23 हत्याओ के ज़िम्मेदार की फोटो कब लगेगी योगी जी – अमीक जामेई

लखनऊ, 6 मार्च 2020: संविधान बचाओ देश बचाओ अभियान SBDBA (उत्तर प्रदेश) के कन्वीनर अमीक जामेई ने लखनऊ प्रशासन द्वारा 19 दिसंबर प्रोटेस्ट में प्रदेश के प्रतिष्ठित व्यक्तियों को पहले दंगाई घोषित करना फिर उनके नाम फोटो होर्डिंग पर लगाने के मामले में घोर विरोध जताया है। उन्होने कहा अभी अदालत में मामला चल रहा […]

Read More
 योगीराज में पुलिसिया कार्यवाही से खौफ मे हैं पश्चिम बंगाल के मज़दूर

योगीराज में पुलिसिया कार्यवाही से खौफ मे हैं पश्चिम बंगाल के मज़दूर

CAA-NRC के खिलाफ देशव्यापी कॉल में 19 दिसंबर को लखनऊ में राज्य द्वारा प्रायोजित हिंसा के बाद पुलिसिया दमन पूरे उत्तर प्रदेश मे देखने को मिला, हिंसा के उपरांत योगी सरकार की जेम्स बांड पुलिस इसे कश्मीरी व बंगलादेशी एंगल देने में जुट गयी। जिसका नतीजा यह निकला कि 300 के आस पास राज्य के […]

Read More
 यूपी में ये क्या हो रहा है ?

यूपी में ये क्या हो रहा है ?

केंद्र सरकार इस पूरे मुद्दे पर हुई हिंसा को अलग ही रूप देने के मूँड में नजर आ रही है। असम में छात्र संगठनों द्वारा किये गए आंदोलन के दौरान हुई हिंसा के लिए सरकार अब कांग्रेस और कैडर बेस्ड इस्लामिक संगठन PFI को ज़िम्मेदार ठहरा रही है। ज्ञात होकि असम से लेकर दिल्ली, और […]

Read More
 वाह यूपी पुलिस वाह, शांति की अपील कर रहे पत्रकार को ही किया गिरफ्तार

वाह यूपी पुलिस वाह, शांति की अपील कर रहे पत्रकार को ही किया गिरफ्तार

सुनकर कितना अजीब लगता है न कि एक व्यक्ति जो दंगाईयों को रोकने की कोशिश करता है। वो अभद्र टिप्पणी करने वालों के विरुद्ध पुलिस में केस दर्ज करवाता है। वो लोगों से सभ्य भाषा का उपयोग करने की अपील करता है। इसी बीच कुछ नफ़रत के वाहक एक फोटो को एडिट करते हैं और […]

Read More
 क्या योगी आदित्यनाथ एक हिंदू पुलिसकर्मी के हत्यारों को सज़ा दिलवायेंगे ?

क्या योगी आदित्यनाथ एक हिंदू पुलिसकर्मी के हत्यारों को सज़ा दिलवायेंगे ?

अब ये बात धीरे धीरे साफ होते जा रही है, कि बुलंदशहर में बड़ी साम्प्रदायिक घटना को अंजाम देने की तैयारी थी। मांस खाने वाला व्यक्ति मांस खाता है, यूं खेतों में लटकाता नही, कि दूर- दूर तक नज़र आये। आप ज़रा सोचियेगा, कि कोई ऐसा गौमांस लटकाकर क्यों आफ़त मोल लेगा। जो वीडियो बुलंदशहर […]

Read More
 उत्तरप्रदेश में शासन और प्रशासन द्वारा फ़र्ज़ी एनकाउंटर की होती अनदेखी

उत्तरप्रदेश में शासन और प्रशासन द्वारा फ़र्ज़ी एनकाउंटर की होती अनदेखी

बीते कुछ दिनों में आपने देखा होगा कि उत्तर प्रदेश के लखनऊ में एक राह चलती गाड़ी में बैठे बेकसूर लड़के को पुलिस वालों ने गोली मार दी, जिसका नाम था विवेक तिवारी! विवेक की इसमें कोई गलती नहीं थी ना ही वो कोई अपराधी था और ना ही आतंकी, उसकी गलती सिर्फ यह थी […]

Read More
 कल्पना तिवारी की चीत्कार में नौशाद और मुस्तकीम की मां की चीत्कार शामिल क्यों नहीं है?

कल्पना तिवारी की चीत्कार में नौशाद और मुस्तकीम की मां की चीत्कार शामिल क्यों नहीं है?

कल दिल्ली जाते हुए सोशल मीडिया से विवेक तिवारी की हत्या का समाचार मिला। ज्यादा जानकारी लेने के लिए एक अखबार की वेबसाइट पर गया तो वहां जाकर दिमाग सुन्न हो गया। खबर का कमेंट बॉक्स उन लोगों से भरा था, जो हत्या को सही ठहरा रहे थे। सोचने लगा कि ये कौन लोग हैं, […]

Read More
 नज़रिया – फ़र्ज़ी मुठभेड़ें सिर्फ और सिर्फ एक हत्या है

नज़रिया – फ़र्ज़ी मुठभेड़ें सिर्फ और सिर्फ एक हत्या है

एनकाउंटर स्पेशलिस्ट, यह शब्द किसने और कहां ईजाद किया है, यह मैं नहीं बता पाऊंगा। पर पुलिस के कुछ मुठभेड़ों की वास्तविकता जानने के बाद, यह शब्द हत्या का अपराध करने की मानसिकता का पर्याय बन गया है। अगर सभी मुठभेड़ों की जांच सीआईडी से हो जाय तो बहुत कम पुलिस मुठभेड़ें कानूनन और सत्य […]

Read More