November 28, 2021
क्या आप जानते हैं

सचिन तेंदुलकर और उनकी पत्नी ने किया, ये गैरकानूनी काम।

सचिन तेंदुलकर और उनकी पत्नी ने किया, ये गैरकानूनी काम।

भारतीय क्रिकेट के इतिहास में सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) को मास्टर ब्लास्टर (Master Blaster) या द लीजेंड (The Legend) के नाम से जाना जाता है। अपने क्रिकेट के बेहतरीन करियर के कारण ही वह इस मुकाम तक पहुंचे। उनका जीवन युवाओं के लिए मिसाल साबित होता है। मगर अब उनका और उनके परिवार का नाम गैरकानूनी तरीके से विदेश में निवेश करने के मामले में सामने निकल कर आया है।

इंटरनेशनल कंसोंट्रियम ऑफ इन्वेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट्स (International Consortium of Investigative Journalists) – ICIJ संस्था ने 3 अक्टूबर को एक ‘पंडोरा पेपर्स’ (Pandora Papers) नाम के दस्तावेज को दुनिया के सामने प्रस्तुत किया है। इस दस्तावेज में दुनिया भर की कई जानी-मानी हस्तियों और राजनेताओं के नाम शामिल हैं जिनके विदेश में गैरकानूनी रूप से संपत्ति लेने और निवेश करने की पूरी जानकारी उनकी केंद्र सरकारों को नहीं दी गई है। इसमें भारत से सचिन तेंदुलकर, उनकी पत्नी और उनके ससुर, और नीरव मोदी सहित कई राजनेताओं के नाम सामने आए हैं। इन सबमें दुनिया भर के लगभग 300 से ज्यादा राजनेताओं के नाम देखने को मिले हैं।

क्या है पंडोरा पेपर?

पंडोरा पेपर (Pandora Paper) एक खोजी दस्तावेज है जिसे अंतरराष्ट्रीय पत्रकारों और मीडिया हाउसेस की एक संस्था ICIJ ने 3 अक्टूबर को दुनिया के सामने रखा है। इसमें सभी नामचीन हस्तियों के गैरकानूनी निवेश का कच्चा-चिट्ठा शामिल है। इस दस्तावेज में भारत से सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) और उनके परिवार के कुछ सदस्यों का नाम सामने आए है।

पंडोरा पेपर्स (Pandora Papers) के मुताबिक भारतीय क्रिकेट लीजेंड सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar), उनकी पत्नी अंजली तेंदुलकर (Angali Tendulkar) और सचिन के ससुर आनंद मेहता (Anand Mehta) ने ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड (British Virgin Islands) – BVI देश में गैरकानूनी तरीके से संपत्ति खरीदी है और पैसा निवेश किया है। पंडोरा पेपर्स में नीरव मोदी (Nirav Modi) सहित कई अन्य भारतीय राजनेताओं के भी नाम शामिल है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) का नाम भी इस लिस्ट में है।

क्यों है इस पेपर में सचिन और उनके परिवार का नाम शामिल?

मीडिया हाउस इंडियन एक्सप्रेस (Indian Express), जो ICIJ का एक मेंबर है, की एक रिपोर्ट के अनुसार सचिन तेंदुलकर, अंजली तेंदुलकर और आनंद मेहता ने BVI की एक कंपनी सास इंटरनेशनल लिमिटेड (Saas International Ltd.) के कुछ शेयर खरीदे थे। कंपनी 2016 में ही बंद हो गई थी। कंपनी के लिक्विडेशन के समय यह आंकड़ा निकल कर सामने आया कि सचिन तेंदुलकर ने कंपनी के 9 शेयर्स, अंजली तेंदुलकर ने 14 शेयर्स और आनंद मेहता ने 5 शेयर्स खरीदे थे। इन शेयर्स की कुल कीमत आज के समय में लगभग 20 करोड़ रूपए है।

पंडोरा पेपर्स की एक और रिपोर्ट के अनुसार, सचिन तेंदुलकर और अंजली तेंदुलकर को पीईपी (Politically Exposed Personality) के रूप में चिन्हित किया गया है। इन सभी पर आरोप है कि इन्होंने जो पैसा विदेश में निवेश किया या जो संपत्ति वहां खड़ी की उसकी पूरी जानकारी सरकार के पास नहीं दी गई है। सचिन तेंदुलकर 2012 से 2018 तक राज्यसभा सांसद रह चुके हैं।

सचिन के वकील ने दी सफाई

न्यूज एजेंसी पीटीआई (PTI) से बात करते हुए सचिन तेंदुलकर के वकील ने पूरे मामले पर सचिन की संस्था की ओर से जवाब दिया। उन्होंने कहा, “फॉर्मर क्रिकेटर का विदेश में निवेश कानूनी रूप से वैध है और उसके बारे में टैक्स अधिकारियों को जानकारी दी गई थी।”

About Author

Ankit Swetav