October 21, 2021
इंस्पायरेशनल स्टोरी

कौन है ये कश्मीरी युवक, जिसकी तारीफ़ को मजबूर हुए मोदी

कौन है ये कश्मीरी युवक, जिसकी तारीफ़ को मजबूर हुए मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2017 की आखिरी ‘मन की बात’ रविवार को की.
 
उन्होंने इस कार्यक्रम में सकारात्मक बदलाव के लिए काम कर रहे लोगों का जिक्र करते हुए जम्मू-कश्मीर प्रशासनिक सेवा परीक्षा में अव्वल रहीं छात्रा अंजुम बशीर खान खट्टक की विपरीत हालात से उबर कर सफलता की कहानी को प्रेरणाप्रद बताया.
प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि ऐसे अनेक लोग हैं, जो अपने-अपने स्तर पर ऐसे कार्य कर रहे हैं, जिनसे कई लोगों के जीवन में सकारात्मक बदलाव आ रहा है.
वास्तव में, यही तो न्यू इंडिया है, जिसका हम सब मिल कर निर्माण कर रहे हैं. मोदी ने इन्हीं छोटी-छोटी खुशियों के साथ सकारारत्मक भारत से प्रगतिशील भारत की दिशा में मजबूत कदम बढ़ाते हुए देशवासियों से नववर्ष में प्रवेश का आह्वान किया.
उधर, कश्मीर प्रशासनिक सेवा के टॉपर अंजुम बशीर खान खट्टक ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को को मन की बात प्रोग्राम में जिक्र करने के लिए धन्यवाद देते हुए कहा  कि,  मैं पीएम का आभारी हूं, उनके जरिए मेरे नाम का जिक्र करने से मुझे समाज के विकास के लिए काम करने को बहुत प्रेरणा मिलेगी. जब मुझे मालूम चला कि पीएम मोदी ने मन की बात प्रोग्राम में मेरा नाम लिया है, तो मुझे इस पर विश्वास नही हो रहा था.

कौन है अंजुम बशीर खान खट्टक

अंजुम ने जम्मू कश्मीर लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा- 2014  में पहला स्थान हासिल किया था. साथ ही उन्होंने कक्षा 8 के बाद से कोई भी कोचिंग नहीं की थी.
1990 में आंतकवादियो ने उनके पैतृक घर को जला दिया था और वहाँ आंतकवाद और हिंसा इतनी अधिक थी कि उनके परिवार को अपनी पैतृक जमीन को छोड़ कर बाहर जाना पड़ा.

About Author

Team TH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *