क्रिकेट

भारत को सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त

भारत को सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त

कप्तान विराट कोहली के 34वें शतक के बाद युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव की जबरदस्त फिरकी के जादू से भारत ने दक्षिण अफ्रीका को तीसरे वनडे में 124 रन से हराकर छह मैचों की श्रृंखला में 3-0 की अजेय बढ़त ले ली है.
दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ उसी की सरजमीं पर रनों के लिहाज से यह भारत की सबसे बड़ी जीत है. इससे पहले टीम इंडिया ने 10 अक्तूबर 2001 को सेंचुरियन में मेजबान टीम को 41 रन से हराया था. भारत ने पहली बार दक्षिण अफ्रीका की सरजमीं पर किसी द्विपक्षीय श्रृंखला में तीन वनडे मैचों में जीत दर्ज की है और टीम इंडिया के पास यहां पहली बार वनडे श्रृंखला जीतने का मौका भी है.भारत ने इससे पहले 1992-93 और 2010-11 में दक्षिण अफ्रीका में किसी द्विपक्षीय सीरीज में दो वनडे जीत थे लेकिन क्रमश: 7 और 5 वनडे मैचों की ये सीरीज टीम इंडिया ने 5-2 और 3-2 से गंवाई थी.

कैसी रही भारत की बल्लेबाजी

साउथ अफ्रीका ने टॉस जीतकर भारत को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया.रोहित शर्मा की खराब फॉर्म इस मैच में भी जारी रही. भारत ने पहले ओवर की अंतिम गेंद पर ही रोहित शर्मा का विकेट गंवा दिया जो कागिसो रबादा की गेंद पर विकेटकीपर क्लासेन को कैच दे बैठे.रबादा ने मौजूदा दौरे पर टेस्ट और वनडे मैचों में रोहित को सात में से पांच बार आउट किया है. कोहली ने 159 गेंद में 12 चौकों और दो छक्कों की मदद से नाबाद 160 रन की पारी खेलने के अलावा सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (76) के साथ दूसरे विकेट के लिए 140 और भुवनेश्वर कुमार (नाबाद 16) के साथ सातवें विकेट के लिए 7.2 ओवर में 67 रन की अटूट साझेदारी की जिससे भारत ने छह विकेट पर 303 का बड़ा स्कोर खड़ा किया.साउथ अफ्रीका की ओर से सबसे सफल गेंदबाज डुमिनी रहे जिन्होंने 10 ओवर में 60 रन देकर 2 विकेट लिए.इसके अतिरिक्त रबादा, मॉरिस, फेलुकवयो और इमरान ताहिर ने 1-1 विकेट अपने नाम किया.

साउथ अफ्रीका की खराब बल्लेबाजी

लक्ष्य का पीछा करने उतरी अफ्रीकी टीम शुरुआत से ही लय में नही दिखी और भारतीय स्पिनरों के सामने असहाय नजर आई.भारतीय टीम के स्कोर के जवाब में साउथ अफ्रीका की टीम चहल (46 रन पर चार विकेट), कुलदीप (23 रन पर चार विकेट) और जसप्रीत बुमराह (32 रन पर दो विकेट) की उम्दा गेंदबाजी के सामने 40 ओवर में 179 रन पर ढेर हो गई. मेजबान टीम की ओर से जेपी ड्यूमिनी (51) ही टिककर बल्लेबाजी कर पाए.चहल और कुलदीप के 4-4 विकेट के अतिरिक्त जसप्रीत बुमराह ने 32 रन देकर 2 विकेट लिए.

कमाल के कोहली

कोहली इस पारी के दौरान साउथ अफ्रीका के खिलाफ 1000 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय रन भी पूरे करने में सफल रहे.कोहली मौजूदा सीरीज में 318 रन बना चुके हैं और जो दक्षिण अफ्रीका में किसी द्विपक्षीय सीरीज में मेहमान बल्लेबाज के सर्वाधिक रन हैं. भारतीय कप्तान ने पोंटिंग को पीछे छोड़ा, जिन्होंने 2001-02 सीरीज में 283 रन जुटाए थे.कोहली का यह कप्तान के रूप में 12वां शतक है. उन्होंने भारतीय कप्तान के रूप में सौरभ गांगुली के सर्वाधिक 11 शतक के रेकॉर्ड को पीछे छोड़ा. गांगुली ने 142 पारियों में 11 शतक जड़े थे जबकि कोहली ने कप्तान के रूप में 43वीं पारी में ही 12वां शतक मारा.कप्तान के रूप में उनसे अधिक शतक केवल ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग (22) और साउथ अफ्रीका के एबी डि विलियर्स (13) ने ही बनाए हैं.

धोनी के 400 शिकार

कुलदीप की गेंद पर मार्करम को स्टंप करने के साथ ही धोनी  एकदिवसीय अंतराष्ट्रीय मैचों में 400 शिकार करने वाले चौथे विकेटकीपर बने.उनसे पहले कुमार संगकारा (482), एडम गिलक्रिस्ट (472) और मार्क बाउचर (424) यह उपलब्धि हासिल कर चुके हैं.

About Author

Durgesh Dehriya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *