November 30, 2021
बॉलीवुड

क्यों विवादों में आई सिद्धार्थ की शेरशाह?

क्यों विवादों में आई सिद्धार्थ की शेरशाह?

12 अगस्त को अमेजॉन प्राइम वीडियो ओटीटी (Amazon Prime Video OTT) पर सिद्धार्थ मल्होत्रा (Sidharth Malhotra) और कियारा आडवाणी (Kiara Advani)  की फिल्म शेरशाह (Shershaah) रिलीज हुई थी। कैप्टन विक्रम बत्रा (Cpt. Vikram Batra) के जीवन पर आधारित इस फिल्म को लोगों ने काफी ज्यादा पसंद किया। लगभग 50 लाख से भी ज्यादा बार इस फिल्म को देखा गया है। रिव्यूज के अनुसार फिल्म सुपरहिट रही। मगर अब करीब डेढ़ महीने बाद फिल्म का एक छोटे से विवाद से सामना हुआ है।

27 सितंबर को सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए एक कश्मीरी पत्रकार फराज अशरफ (Faraz Ashraf) ने शेरशाह फिल्म के कारण उनके परिवार पर जान का खतरा बताया। फराज अशरफ का कहना है कि फिल्म के एक सीन में एक गाड़ी पर उनके गाड़ी जैसा ही नंबर प्लेट इस्तेमाल में लिया गया है। अशरफ का कहना है कि धर्मा प्रोडक्शन ने मेरे और मेरे परिवार के लिए खतरा खड़ा कर दिया है। यह पूरा मामला अब न्यायिक मोड़ लेता नजर आ रहा है।

फ़राज़ अशरफ का सोशल मीडिया पोस्ट द्वारा दावा

कश्मीरी पत्रकार फ़राज़ अशरफ ने शेरशाह के प्रोड्यूसर धर्मा प्रोडक्शन पर हमला करते हुए यह दावा किया है कि उसके कारण उनके और उनके परिवार पर इनडायरेक्टली जान का खतरा बना हुआ है। अशरफ ने फिल्म का एक सीन शेयर करते हुए लिखा, “बॉलीवुड में हमेशा से कश्मीर के खिलाफ प्रोपेगेंडा को आधार बनाकर ही फिल्में बनती रही हैं। धर्मा प्रोडक्शन के बैनर तले बनी फिल्म शेरशाह ने मुझे और मेरे परिवार को इनडायरेक्टली नुकसान पहुंचाया है।”

उन्होंने आगे लिखा, “फिल्म में एक आतंकवादी ने जिस कार को इस्तेमाल किया है, उसका रजिस्ट्रेशन नंबर मेरी पर्सनल कार का है।” उन्होंने बताया कि, “मैं अपनी कार को लेकर सड़क पर निकलने से डरता हूं। मुझे डर लग रहा है कि कहीं आतंकवादी यह ना सोच ले की फिल्म के लिए मैंने अपनी कार किराए पर दी थी।”

क्या है मामला?

असल में शेरशाह फिल्म में एक सीन है जिसमें सिद्धार्थ मल्होत्रा अपने अन्य सैनिक साथियों के साथ एक नाकाबंदी करके गाड़ियों की चेकिंग करते हैं। उसी दौरान एक कार में आतंकवादी थे जो भागने की कोशिश करते हैं, लेकिन सिद्धार्थ अपनी जान पर खेलकर उन्हें मार डालते हैं। इस सीन में जिस कार में आतंकवादी मौजूद थे, उस गाड़ी का रजिस्ट्रेशन नंबर पत्रकार अशरफ के गाड़ी का है।

About Author

Ankit Swetav