महात्मा गांधी का यह किस्सा, एक बार फिर याद कर लीजिए

महात्मा गांधी का यह किस्सा, एक बार फिर याद कर लीजिए

जो कपड़े रंगने के काम आता, बंगाल और बिहार के किसानों के गले का हलाहल था। एक एकड़ जमीन में तीन काठी भूमि पर नील उगाना जरूरी था। नील जहां लगती, जमीन बेकार हो जाती। तो सरकारी अफसर और ठेकेदारों के गुमाश्ते उसे अगली बार बेहतर जमीन पर उगवाते। तो खाने के लिए अनाज की […]

Read More