धर्मनिर्पेक्ष राष्ट्र में बहुसंख्यकवाद के ख़तरे

धर्मनिर्पेक्ष राष्ट्र में बहुसंख्यकवाद के ख़तरे

आख़िर वैध धर्मांतरण क्या है? दक्षिणपंथी संगठनों के तथाकथित नेताओं से लेकर न्यूज़ चैनल्स की स्क्रीन और अख़बार के पन्ने आए दिन मुसलमानों के ख़िलाफ होने वाले दुष्प्रचार से भरे मिलते हैं। इसी कड़ी में सोशल मीडिया पर भी आए दिन मुसलमानों और उनके धर्म के ख़िलाफ टिप्पणियां की जातीं हैं, इन्हीं संस्थाओं/संगठनों द्वारा मुसलमानों […]

Read More