December 9, 2021
व्यक्तित्व

जानिये आखिर क्यों हुई थी राकेश रोशन पर गोलियों की बौछार…

जानिये आखिर क्यों हुई थी राकेश रोशन पर गोलियों की बौछार…

6 सितंबर 1949 में जन्मे राकेश रोशन ने बतौर एक्टर  1970 में बॉलीवुड में अपना डेब्यू किया था। इस दौरन उन्होंने कहानी घर घर की, आंखों-आंखों में खूबसूरती और बुनियाद जैसी फिल्में की। इससे पहले राकेश बॉलीवुड में असिस्टेंट डायरेक्टर के तौर पर काम  किया करते थे।

2000 बेटे ऋतिक रोशन को “कहो न प्यार है” फ़िल्म से लॉन्च किया था। पर आज राकेश रोशन ने इस इंडस्ट्री में रहने की एक बड़ी कीमत चुकाई है। इसी इंडस्ट्री में होने के कारण उन्हें गोलियों की बौछार का भी सामना करना पड़ा। वहीं तीन साल पहले उन्हें केंसर होने की खबर सामने आई थी। राकेश रोशन के 72वें जन्मदिन पर पेश है उनसे जुड़ी खास बातें…

अभिनेता, निर्देशक और निर्माता हैं राकेश रोशन 

राकेश रोशन का जन्म 6 सितंबर 1949 को मुम्बई महाराष्ट्र में हुआ था।राकेश बॉलीवुड के संगीत निर्देशक रोशन के बेटे हैं। 1970 से राकेश ने फिल्मी दुनिया में एक एक्टर के तौर पर काम शुरू किया। इससे पहले वह असिस्टेंट डायरेक्टर का काम कर चुके हैं। अपने अभी तक के जीवन में राकेश ने 84 फिल्में बतौर अभिनेता की हैं। निर्माता के रूप में 2000 में “कहो न प्यार है” का निर्माण किया था। वहीं निर्देशक के तौर पर 12 फिल्मों का निर्देशन किया इसमें “कोई मिल गया”, “कारोबार”, “कोयला” आदि फिल्में शामिल हैं।

एक्सटॉर्शन मनी न देने पर राकेश पर हुआ था हमला

2000 में राकेश रोशन ने अपने बेटे ऋतिक रोशन के डेब्यू के साथ कहो न प्यार फ़िल्म बनाई थी। बॉक्स ऑफिस पर ये ब्लॉक बस्टर साबित हुई।10 करोड़ की लागत वाली इस फ़िल्म ने 67 करोड़ की कमाई की थी। इस फ़िल्म के मुनाफे में अंडरवर्ल्ड के डॉन अबू सलेम ने हिस्सा मांगा। 

लेकिन राकेश ने इसे देने से मना कर दिया। जिसके बाद उनके सांताक्रुज ऑफिस के बाहर राकेश पर 6 गोलियां चलाई गयीं । इस हादसे में उन्हें 2 गोली लगी थी। हालांकि, इलाज के बाद वो एकदम स्वस्थ हो गए। बाद में पुलिस ने इस मामले में 2 लोगो को गिरफ़्तार किया। बता दें कि क्सटॉर्शन मनी न देने पर राकेश से पहले गुलशन कुमार की भी इसी तरह हत्या कर दी गई थी।  

कैंसर को भी दी थी मात

2018 में राकेश को कैंसर हो गया था जिसकी खबर ऋृतिक ने सोशल मीडिया पर अपने पिता के साथ एक फ़ोटो शेयर करके बताई थी। उन्हें गले का कैंसर हुआ था, इलाज के बाद वो बिल्कुल ठीक हो गए थे। कैंसर के दौरान उन्होंने अपना 10 किलो वज़न कम कर लिया था। लेकिन अब राकेश अपनी फिटनेस का पूरा ध्यान रखते है। आज भी वो करीब डेढ़ घन्टा जिम में बिताते हैं।

अपनी बीमारी के बारे में राकेश ने एक इंटरव्यू में कहा था कि, ‘15 दिसम्बर का दिन था जब मुझे एक कॉल आया जिसमे बताया गया कि मेरी बायोप्सी रिपोर्ट पॉज़िटिव है। डॉक्टर ने मेरी जीभ के नीचे की गांठ काटने की बात कही जिससे मैं डर गया था, लेकिन मैंने हार नहीं मानी। इलाज करवाकर इस पर जीत हासिल की।’

“क” अक्षर से है राकेश का विशेष जुड़ाव

ये बात बेहद दिलचस्प है कि राकेश ने जितनी भी फिल्में बनाई उनमें से अधिकतर के नाम ऐसे थे जो “क” से शुरू होते थे। इनमे कोई मिल गया, कहो न प्यार है, कोयला, कृष, कारोबार, करन-अर्जुन, किंग अंकल और किशन कन्हैया शामिल हैं। कहा जाता है ज्योतिष के मुताबिक राकेश के लिए “क” अक्षर अच्छा है।

 

About Author

Heena Sen