November 30, 2021

हैदराबाद की रजनी की इंस्पायरिंग स्टोरी इस वक्त हर तरफ छाई हुई है। दरअसल हुआ ये है कि, ग्रेटर हैदराबाद म्युनिसिपल कारपोरेशन (GHMC) में स्वीपर का काम करने वाली रजनी को GHMC ने अपने यहाँ कीट वैज्ञानिक की नौकरी दी है। तेलगु डेली में छपी रजनी की इंस्प्रेशनल स्टोरी के बाद GHMC ने रजनी को ये नौकरी ऑफर की थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रजनी जैविक रसायन विज्ञान में मास्टर पास हैं। वहीं हैदराबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय से पीएचडी भी कर चुकी हैं। रजनी की स्टोरी के लाइम लाइट में आने के बाद तेलंगना म्युनिसिपल एडमिनिस्ट्रेशन मिनिस्टर के.टी. रामा राओ ने बीते सोमवार (20सितंबर) रजनी को GHMC में असिस्टेंट एंटोमोलेजिस्ट की जॉब ऑफर की थी।

एमएससी पास हैं रजनी:

रजनी, वारंगल जिले की रहने वाली है, वहीं उनके पास जैविक रसायन विज्ञान में एमएससी की डिग्री है। रजनी का जन्म एक खेतिहर परिवार में हुआ था, फाइनेंशियल दिक्कतों के चलते भी परिवार ने रजनी को पढ़ने के लिए सपोर्ट किया। रजनी ने 2013 में जैविक रसायन विज्ञान में फर्स्ट डिवीजन से एमएससी की और हैदराबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय से पीएचडी भी की। इसी दौरन उनकी शादी एक वकील से हो गयी और रजनी हैदराबाद आ गईं।

GHMC में करती थी नौकरी :

शादी के बाद रजनी की दो बेटियां की मां बन गईं, इस बीच उन्होंने प्रतियोगी परीक्षाओं में भाग लेना जारी रखा और लागातर परीक्षाओं में शामिल होती रहीं। लेकिन दिल की समस्याओं के कारण पति की तबियत बिगड़ने लगी। पति के बिस्तर पकड़ने के बाद, परिवार को संभालने के लिए सब्ज़ियां बेचना शुरू किया। इसमें रजनी की सास भी उनकी मदद किया करती थी। लेकिन पांच लोगों के परिवार को संभालना मुश्किल हो रहा था। इसलिए रजनी ने 10 हज़ार के वेतन पर ग्रेटर हैदराबाद म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन के साथ कॉन्ट्रैक्ट पर स्वीपर की नौकरी करने लगी।

मीडिया रिपोट्स से मिली अटेंशन :

हैदराबाद डेली ने रजनी पर एक रिपोर्ट छपी जिसके बाद रजनी को लोगों और संस्थाओं की अटेंशन मिलने लगी। इसी बीच तेलंगाना म्युनिसिपल एडमिनिस्ट्रेशन मंत्री ने उन्हें GHMC में असिस्टेंट एंटोमोलेजिस्ट की जॉब का ऑफर दिया। इसकी जानकारी विशेष मुख्य सचिव, शहरी विकास, अरविंद कुमार ने अपने ट्विटर हैंडल पर दी। उन्होंने ट्वीट में लिखा कि उनकी योग्यता को सत्यापित करने के बाद आदेश जारी किए जाएंगे।


GHMC में किट वैज्ञानिक का पदभर संभाला :

ऐसे में रजनी उस वक्त भावुक हो गयी थी, जब मंत्री उन्हें सहायता देने की बात की गयी और कीटविज्ञान विभाग में कीट वैज्ञानिक के पद के लिए नौकरी की पेशकश की। दी न्यूज़ मिनट के मुताबिक उन्हें GHMC (ग्रेटर हैदराबाद म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन) का किट विज्ञान विभाग सौंपा गया है। रजनी ने सोमवार से अपना पदवार सम्भाल। वहीं प्रशासन ने उनके EPF और ESI खातों को तुरंत खोलने के निर्देश जारी किया हैं।

About Author

Sushma Tomar