0

जानिये राहुल द्रविड़ के बारे में कुछ खास बातें

Share

भारत के सबसे भरोसेमंद बल्लेबाज राहुल द्रविड़ का 11 जनवरी को  जन्मदिन था.टीम इंडिया के लिए 164 टेस्ट में 13288 रन, 344 वनडे में 10889 रन और एकमात्र टी20 इंटरनेशनल मैच में 31 रन बनाने वाले दिग्गज बल्लेबाज़ राहुल द्रविड़ का जन्म मध्यप्रदेश के इंदौर में 11 जनवरी में 1973 में हुआ था. उन्होंने टीम इंडिया के लिए बल्लेबाज के अलावा एक वैकल्पिक विकेटकीपर की भी भूमिका निभाई थी. राहुल अपने क्रिकेट करियर के दौरान ‘द वाल’ के नाम से जाने जाते थे.
Image result for rahul dravid

आइए जानते हैं इस दिग्गज खिलाड़ी के बारे में कुछ खास बातें.

-अपने शानदार खेल की वजह से मिस्टर भरोसेमंद का उपनाम हासिल करने वाले राहुल द्रविड़ ने लगातार 94 टेस्ट खेले हैं.उन्होंने 93 टेस्ट  भारत के लिए तथा एक आईसीसी इलेवन के लिए खेला है.वह ऐसा करने वाले सुनील गावस्कर (106) के बाद दूसरे भारतीय खिलाड़ी हैं.वर्ल्ड रिकॉर्ड एलन बॉर्डर (153) के नाम है.
-टेस्ट क्रिकेट में नंबर 3 पोजिशन पर बल्लेबाज़ी करते हुए टीम इंडिया के इस दिग्गज खिलाड़ी को सबसे पहले 10000 रन बनाने का गौरव प्राप्त है. यही नहीं वह टेस्ट खेलने वाले सभी देशों के खिलाफ शतक लगाने वाले पहले खिलाड़ी भी हैं.

-सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ के बीच टेस्ट क्रिकेट में 20 शतकीय साझेदारियां हुई हैं.जबकि इन दोनों ने पार्टनरशिप में करीब 7000 रन जोड़े हैं. यह दोनों वर्ल्ड रिकॉर्ड हैं. वैसे राहुल ने टेस्ट क्रिकेट में विभिन्न बल्लेबाजों के साथ 738 बार शतकीय साझेदारी की है. वेस्टइंडीज के शिवनारायण चंद्रपॉल 750 पार्टनरशिप के साथ नंबर वन हैं.
-द्रविड़ ने 509 इंटरनेशनल मैचों में 24208 रन बनाए हैं. वह सचिन तेंदुलकर 34357 (मैच 664) के बाद सबसे सफल दूसरे भारतीय बल्लेबाज़ हैं.
-टीम इंडिया के इस दिग्गज बल्लेबाज़ ने 36 टेस्ट शतक लगाए हैं.वह सचिन तेंदुलकर (51), जैक कैलिस (45), रिकी पोंटिंग (41) और कुमार संगाकारा (38) के बाद सबसे अधिक शतक लगाने वाले बल्लेबाज़ हैं.

-इस धाकड़ खिलाड़ी ने 2003-2007 के बीच 25 टेस्ट में टीम इंडिया की कप्तानी की. इसमें से 8 में जीत और 6 में हार मिली तो 11 ड्रा रहे. द्रविड़ भारत को साउथ अफ्रीका में पहली टेस्ट जीत दिलाने का रिकॉर्ड भी रखते हैं.जबकि वह इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज़ जीतने वाले कपिल देव और अजीत वाडेकर के बाद सिर्फ तीसरे कप्तान हैं.
-2001 में कोलकाता टेस्ट में वीवीएस लक्ष्मण और राहुल द्रविड़ के बीच 376 रन की साझेदारी टेस्ट क्रिकेट का एक यादगार लम्हा है. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इस टेस्ट में लक्ष्मण ने 281 रन तो द्रविड़ ने 180 रन बनाए थे.
 

-पद्म श्री और पद्म भूषण जैसे सर्वोच्च भारतीय नागरिक सम्मान प्राप्त करने वाले द्रविड़ एक बहुत अच्छे फिल्डर भी रहे हैं,जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा कैच लिए हैं.उन्होंने 164 मैचों की 301 पारियों में 210 कैच लिए थे.उनके अलावा सबसे ज्यादा कैच लेने का रिकॉर्ड महेला जयवर्धने का है जिन्होंने 205 कैच लिए हैं.
-क्रिकेट के इतने लंबे इतिहास में एक और बड़ा रिकॉर्ड भी उनके नाम है. जी हाँ, याद दिला दें कि राहुल द्रविड़ ने अपने कैरियर में किसी भी बल्लेबाज से सबसे ज्यादा 31,258 गेंदें खेली है और वो इस रिकॉर्ड में पहले पायदान पर है.